10वी और 10+2 पास छात्रों के लिए छात्रवृति योजनाएं

भारत सरकार हर साल दसवीं तथा बाहरवीं कक्षा के विद्यार्थियों के लिए अपने मंत्रालयों, विभागों और स्वायत्त संस्थाओं के माध्यम से राष्ट्रीय और राज्य स्तरीय छात्रवृतियाँ प्रदान करती है किन्तु जानकारी के अभाव के कारण अक्सर विद्यार्थी सरकार द्वारा प्रदान की गयी इन सुविधाओं से वंचित रह जाते हैं। यहां इस आलेख में हम प्रयास कर रहे हैं की आपको इस बारे में ज्यादा जानकारी सुलभ माध्यम से प्रदान कर सकें।

आईये जानें भारत में विभिन्न वर्गों के विद्यार्थियों के लिए कौन सी क्षात्रवृतियां उपलब्ध हैं :

1. किशोर वैज्ञानिक प्रोत्साहन योजना ( के.वी.पी.वाई. )
भारत सरकार के विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग की तरफ से शुरू की गयी ये छात्रवृति योजना बेसिक साइंस के लिए है जिसका उद्देश्य मूल रूप से छात्रों की रुचि, विज्ञान एवं अनुसंधान की तरफ ले जाना है।ये प्रतिभावान छात्रों की पहचान करके उन्हें उनकी शैक्षिक क्षमता का एहसास करने में मदद करना तथा देश में अनुसंधान और विकास के लिए उनकी प्रतिभा को आगे लाना सुनिश्चित करता है। इसके लिए छात्रों का चयन ग्यारवीं कक्षा से लेकर बेसिक साइंस के स्नातक के पहले वर्ष के क्षात्रों में से किया जाता है।

2. पैनासोनिक छात्रवृत्ति 2016
यह छात्रवृत्ति उन बाहरवीं पास छात्रों के लिए है जो इंजीनियरिंग के क्षेत्र में अपनी शिक्षा जारी रखना चाहते हैं। ये INR 42,500 प्रति वर्ष प्रति छात्र की छात्रवृत्ति सहायता करके चार साल उनकी ट्यूशन फीस को कवर करती है तथा आईआईटी के स्नातक अध्ययन में प्रवेश के लिए पात्र बनाती है।

3. आर डी सेठना छात्रवृत्ति कोष
वे छात्र जिन्होंने माध्यमिक विद्यालय परीक्षा कम से कम 50 % अंकों के साथ उत्तीर्ण की है, इसके लिए आवेदन कर सकते हैं ।इस छात्रवृत्ति के साथ छात्रों को जाति और समुदाय की परवाह किए बिना भारत में कहीं भी और विदेश में, वैज्ञानिक, वाणिज्यिक, औद्योगिक या तकनीकी विषयों का अध्ययन करने का मौका मिलता है । विदेशों में अध्ययन के लिए आवेदन जमा करने की अंतिम तिथि 31 मई है और भारतीय अध्ययन के लिए 31 अगस्त को हर साल है ।

4. फाउंडेशन फॉर अकादमिक एक्सीलेंस एंड एक्सेस (FAEA)
FAEA सामाजिक और आर्थिक रूप से समाज के वंचित वर्गों के छात्रों के लिए छात्रवृत्ति प्रदान करता है। छात्रों को अपने अकादमिक उत्कृष्टता और सामाजिक और आर्थिक पृष्ठभूमि के आधार पर चुना जाता है। सभी भारतीय क्षात्र जो की यहां के स्थायी हैं और जिन्होंने 12 वीं कक्षा उत्तीर्ण की है इस छात्रवृत्ति के लिए पात्र हैं।

5. अल्पसंख्यक समुदायों के लिए पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति
11 वीं, 12 वीं कक्षा के अल्पसंख्यक विद्यार्थियों के लिए ये छात्रवृत्ति 7,000-12,000 सालाना प्रदान करती है जिसमे वर्गीकरण अल्पसंख्यक दर्जे के अनुसार ही किया जाता है।

6. स्कीम फॉर अर्ली अट्रैक्शन ऑफ़ टैलेंट (SEATS)
हर साल विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा आयोजित किया जाने वाला ये कार्यक्रम छात्रों को विज्ञान परियोजना बनाने और यह प्रदर्शित करने के लिए प्रोत्साहित करता है। प्रत्येक छात्र को प्रदर्शनी में परियोजना को प्रदर्शित करने के लिए और परिवहन लागत के लिए 5000 रुपए की राशि मिलती है। प्रमाण पत्र अत्यधिक मान्यता प्राप्त है और भविष्य में काफी काम आता है।

7. अमूल विद्या श्री और विद्या भूषण पुरस्कार
अमूल विद्या श्री पुरस्कार, राज्य बोर्ड / केंद्रीय बोर्ड / आईसीएसई परीक्षा में कक्षा 10 के मेधावी क्षात्रो के लिए जबकि अमूल विद्या भूषण पुरस्कार बारहवीं कक्षा के मेधावी छात्रों के लिए है। विजेता के बारे में भारत के प्रमुख समाचार पत्र में छापा जाता है और एक स्मृति चिन्ह, उत्कृष्टता का प्रमाण पत्र और पुस्तकों से सम्मानित होने के अलावा राष्ट्रीय स्तर पर पहचान मिलती है।

8. लड़कियों के लिए ए.आई.सी.टी.ई. छात्रवृत्ति योजना (SSGC)
क्षात्राओं के लिए ये छात्रवृत्ति योजना तकनीकी शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए एआईसीटीई द्वारा प्रदान की जाती। इसका एकमात्र उद्देश्य है कि डिग्री और डिप्लोमा स्तर पर क्षात्राओं का अनुपात कम न हो अवं भारत भर में इच्छुक बालिकाएं तकनीकी शिक्षा से वंचित न रहें।

9. द लोर इंडिया फाउंडेशन स्कालरशिप ट्रस्ट
सामाजिक उद्यमशीलता के लिए काम करता ये ट्रस्ट 10 वीं, 11 वीं और 12 वीं के छात्रों के लिए छात्रवृत्ति कार्यक्रम चलाता है जिसमे विद्यार्थियो को लर्निंग एप्टीट्यूड टेस्ट (LAT) के माध्यम से चुना जाता है। इस कार्यक्रम के तहत छात्रवृत्ति की कुल राशि 5 करोड़ रूपए है ।

10. ट्रस्ट फंड से छात्रवृत्ति योजना
इस योजना के तहत विकलांग छात्रों को एक मान्यता प्राप्त संस्थान से डिग्री और / या स्नातकोत्तर स्तर की तकनीकी और व्यावसायिक शिक्षा प्राप्त करने के लिए वित्तीय सहायता दी जाती है। इसमें हर वर्ष 2500 क्षात्रवृतियों का प्रावधान है।

11. इंडियन ओइल अकादमिक स्कालरशिप
हर शैक्षणिक वर्ष में इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन लिमिटेड की तरफ से पूरे भारत से मेधावी छात्रों को 2600 क्षात्रवृतीयां प्रदान की जाती हैं। प्रथम वर्ष के छात्रों के साथ-साथ 10 +/ आई.टी.आई. के छात्र भी इसके लिए पात्र हैं। छात्रवृत्ति के लिए उम्मीदवारों को योग्यता के आधार पर चुना जाता है।

हमने पूरी कोशिश की है की ज्यादा से ज्यादा उपलब्ध योजनाओं के बारे में आपको जानकारी दे सकें। आशा है आप इनसे जरूर लाभ लेंगे तथा अपने जीवन को एक नई दिशा देने में सफल होंगे।

Comments