12वी के बाद सही कोर्स का चुनाव कैसे करें

12 वी कक्षा किसी भी विद्यार्थी के लिए एक महत्त्वपूर्ण पड़ाव है । इस के बाद विद्यार्थी को किसी एक कोर्स का चुनाव करना पड़ता है जो की उसकी आगे की नियती तय करेगा। इसी कोर्स के आधार पर वह नौकरी या अन्य व्यवसाय कर पायेगा जिससे उसके जीवन में परिवर्तन आ सकता है। कठिन प्रतिस्पर्धा और बहुत सारे विकल्प विद्यार्थी को उलझन में डाल सकते है। अगर आपने 12 वी की परीक्षा दी है और उसके परिणाम का इंतज़ार कर रहे है तो इस समय का सदुपयोग करना चाहिए। आपकी चाह, दिलचस्पी, शौक, क्षमता और मौके-यह कुछ चीज़े है जिसके अनुसार आप व्यावसायिक कोर्स पसंद कर सकते है। ऐसा माना जाता है की अगर आपका व्यवसाय आपकी दिलचस्पी और शौक के अनुरूप हो तो आपके सफल होने के अवसर बढ़ जाते है। इस लिए किसी और व्यक्ति का अनुसरण करने या किसी और की बाते मान कर चुनाव करने की बजह खुद अपना रास्ता तय करना जरुरी है।

12 वी के बाद सही कोर्स चुनने के मापदंड

  • विषय में दिलचस्पी
  • अपनी व्यक्तित्व
  • योग्यता
  • खुद की ताकत और कमजोरी
  • व्यवहार्यता और प्रेरणा
  • कार्य का प्रकार
  • आर्थिक स्थिति

इस प्रतिस्पर्धा के दौर में सामान्य शिक्षा से अच्छी आमदनी पाना बहुत कठिन है। इसी लिए कोई आम कोर्स का चुनाव न करते हुए किसी स्पेशलिटी को चुने और उसीमें आगे बढे। हमेशा याद रखे की सिर्फ पढाई करना ही पर्याप्त नहीं है। इस पढ़ाई का व्यवहारिक उपयोग सीखना और भी ज्यादा मत्वपूर्ण है। यहाँ पर 12 वी के बाद चुने जाने लायक कुछ महत्त्वपूर्ण व्यावसायिक कोर्स के बारे में बताया गया है।

मैनेजमेंट शाखा (MBA)
हमेशा से लोगो की पसंद रहे इस कोर्स में आपके पास बहुत सारे विकल्प मौजूद हैं। इस शाखा में अगर आप अपनी मेहनत और समय देने के लिए तैयार हो तो आप बहुत आगे बढ़ सकते है। हो सकता है की आप अन्य शाखा में उत्तीर्ण विध्यार्थीओं से भी ज्यादा ऊँचाइया प्राप्त करे। यह शाखा आपको प्रतिष्ठा, पावर और पैसा – तीनो चीजें प्रदान करती है।

इसके अलावा इस शाखा में बहुत सारे विषयों के विकल्प मौजूद है जैसे की फाइनांस, ओपरेशन, मार्केटिंग और इन्फोर्मेशन टेक्नोलोजी। आप इनमे से किसीको भी अपनी दिलचस्पी और के मुताबिक पसंद कर सकते है। विविध शहरों में स्थापित IIM देश के प्रतिष्ठित संस्थान है जिसमे पढ़ कर आप अपना सपनों का करियर बना सकते है।

कम्पुटर और आईटी शाखा
कम्पूटर हमारे जीवन का एक अभिन्न अंग है। सरकारी दफ्तरों से ले कर स्कुल और कोलेज में भी कम्पुटर और आईटी की जरुरत पड़ती है। कम्पुटर लोगों का जीवन आसान बनाते है। इसी लिए कम्पुटर और आईटी के जानकारों की जरुरत हमेशा रहने वाली है। इसी लिए आप कम्पुटर और आईटी शाखा पसंद कर के इस मांग की आपूर्ति कर सकते है। अगर आप टेकनोसेवी है तो आप कम्पुटर और आईटी के सॉफ्टवेर या हार्डवेयर, वेब डिज़ाइनिंग, एनिमेशन से संबंधित कोई भी शाखा पसंद कर सकते है। इन विषयों की जरुरत हर क्षेत्र में है। इस लिए आपको अच्छी जॉब मिलना आसान हो जाएगा।

इंजीनियरिंग शाखा (BE और ME)
इंजीनियरिंग 12 वी के बाद सबसे प्रचलित कोर्स है। अगर आपने 12 वी कक्षा साइन्स (विज्ञान) के साथ पास की है तो आप JEE जैसी परीक्षाएं दे कर B। Tech, B।E।, B। Arch जैसे कोर्स में एडमिशन ले सकते है। याद रखें की एक अच्छा इंजीनियर बनने के लिए आपका भौतिक विज्ञान और गणित का ज्ञान अच्छा होना जरुरी है। जिस तरह MBA के लिए IIM प्रतिष्ठित संस्थान है, इसी तरह इंजीनियरिंग के लिए IIT देश के प्रतिष्ठित संस्थान है। हालांकि इसमें एडमिशन लेने के लिए JEE की कठिन परीक्षा पास करना जरुरी है। अगर आप IIT में एडमिशन नहीं पा सकते तो आप के पास और भी विकल्प है।

चिकित्सीय शाखा (Medical)
अगर आपने 12 वी कक्षामें भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान और जीव विज्ञान पढ़ा है तो आप मेडिकल शाखा में प्रवेश ले सकते है। डॉक्टर का व्यवसाय समाज में शायद सबसे ज्यादा प्रतिष्ठित व्यवसाय है। अगर आप भी डॉक्टर बनाना चाहते है तो आप National Eligibility cum Entrance Test (NEET-UG) दे कर किसी भी मेडिकल कोलेज में एडमिशन ले सकते है। यह परीक्षा पूरे भारत में एक हि समय ली जाती है। इसके अलावा AIMS जैसी अन्य संस्थाओं द्वारा अपनी खुद की एंट्रेंस एक्जाम्स भी ली जाती है। अगर आप MBBS नहीं करना चाहते तो आप के पास आयुर्वेद, होमिओपेथी, फिजियोथेरपी और वेटरनरी साइन्स जैसे विकल्प भी मौजूद है।

इन कोर्स के अलावा आप डिस्टेंट ऑनलाइन कोर्स या अन्य व्यावसायिक पाठ्यक्रम (जैसे की रसोई, होटल मेनेजमेंट, नर्सिंग, डाइंग, पॉटरी इत्यादि) भी पढ़ सकते है।

Comments